28.8 C
New York
June 18, 2024
Life Style

25 राज्य मिलकर ऐसे करेंगे रामलला का अभिवादन, जानें कैसी है तैयारियां

इंतजार खत्म हो रहा है, भगवान श्री रामलला के मंदिर की मूर्ति की भूमिपूजा का कार्यक्रम 5 अगस्त 2020 को आयोजित किया जाएगा। इस अद्वितीय मौके पर, अनेक धार्मिक स्थलों से उठते हैं ये सवाल: ऐसे करेंगे रामलला का अभिवादन, जानें कैसी है तैयारियां? हम यहां आपके लिए विस्तृत जानकारी लाएं हैं।

रामलला का अभिवादन

श्री राम जन्मभूमि, अयोध्या, उत्तर प्रदेश, भारत, विश्व के मशहूर धार्मिक स्थलों में से एक है। यहां श्री रामलला के अभिवादन का शुभारंभ किया जाएगा, जिससे देशभर के करोड़ों भक्तों की कांपट तक मोदी सरकार और उत्तर प्रदेश सरकार हैं। इस महत्वपूर्ण अवसर के लिए 25 राज्यों ने मिलकर अद्वितीय तैयारियां की हैं। इस लेख में हम जानेंगे कि यह तैयारियाँ कैसी हैं और क्या-क्या इंतजाम किए गए हैं।

नेताजी का स्वागत योजना

यह अत्यधिक महत्वपूर्ण है कि रामलला के उपवास के बाद, श्री रामलला की मूर्ति का शुभारंभ कैसे होगा। रामलला का अभिवादन उन्हीं चीजों से संकेत करेगा, जो इसकी मिशन को सफलतापूर्वक पूरा करेंगे। इसके लिए, 25 राज्यों ने एक नेतृत्व योजना बनाई है। इस योजना के तहत, राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री समेत सरकारी अधिकारियों ने लोगों को स्वागत करने के लाखों इंतजाम शुरू कर दिए हैं।

प्रदेशवार भजन समारोह

पश्चिम बंगाल: पश्चिम बंगाल प्रदेश में रामलला का अभिवादन खास ढंग से मनाया जाएगा। इस प्रदेश में “प्रदेशवार भजन समारोह” आयोजित किया जाएगा, जिसमें कई धार्मिक संगठन प्रदर्शनी, कथा, भाजन और कीर्तन करेंगे। यह समारोह पश्चिम बंगाल की प्रस्तावित इमारत में आयोजित होगा, जिसका निर्माण इसके प्रभारी और मंत्री ममता बनर्जी द्वारा किया जा रहा है।
महाराष्ट्र: महाराष्ट्र राज्य भी अपने रेगिस्तानी स्वागत कार्यक्रमों के अंदर खुद को सजाएगा। यहां इंतजामी गई सभी राज्य मार्ग पर मीठी साधा हलवा और नारियल पानी वितरित करने की योजना है।
यूपी: उत्तर प्रदेश राज्य ने भी अपने विभागों के माध्यम से इस कार्यक्रम की देखभाल की है। यहां एक विशेष शो आयोजित किया जाएगा, जिसमें अनुष्ठान के हिस्सा बनने वाले अभिनेता और मशहूर व्यक्तित्व शामिल होंगे।

अभिवादन महूर्त

राष्ट्रपतिदेव, प्रधानमंत्री और अन्य बड़े नेता, धर्मगुरुओं और संतों की उपस्थिति के बावजूद, रामलला का अभिवादन सवारि का महूर्त एक पुराने संध्या का होना होगा। इसका कारण है, मूर्ति के तैयारी समय से पहले पूरी न होने के चलते।

संध्या आरती की योजना

रामलला के अभिवादन की प्रमुख संगठनाओं के सदस्यों के लिए, एक विशेष संध्या आरती आयोजित की जाएगी। इसका मकसद न केवल आरती करना है, बल्कि उन्हें यहां उठने वाली आरती संस्कृति और परंपरा को अनुभव करने का अवसर मिलेगा।

लाजवब पकवानें

राष्ट्रीय स्वाद में आयोध्या, रामलला के अभिवादन के अवसर पर आपका स्वागत है। इस खास मौके पर अन्य राज्यों के प्रतिनिधियों ने अपनी-अपनी विशेषताओं से भरी पकवानें लाई हैं। ये पकवानें समृद्ध, स्वादिष्ट और लाजवाब होंगी। उदाहरण के लिए, राजस्थान उद्यानों के राजा रहे हैं तो राजस्थानी थाली में आपको राजपूतानी खाद्य पदार्थ मिलेंगे। इसी तरह, अन्य राज्यों का पकवान उनकी स्थानीय मिशन को प्रदर्शित करेगा।

सांस्कृतिक कार्यक्रमों की देखभाल

आयोध्या में रामलला के अभिवादन के दौरान भक्तों के लिए सांस्कृतिक कार्यक्रमों की विस्तृत सूची तैयार की गई है। इन कार्यक्रमों का मकसद उन्हें उनकी मिट्टी की सबसे अधिक महत्वपूर्ण और मनभावन बातों को दिखाना है। राज्यों को यहां उनकी प्रस्तावित प्रदर्शनी, कारोबारी और साहित्यिक कार्यक्रमों की देखभाल करनी होगी।

सुरक्षा इंतजाम

श्री रामलला के अभिवादन के मौके पर, सुरक्षा की व्यापक व्यवस्था भी कर दी गई है। उत्तर प्रदेश पुलिस और अन्य संगठनों द्वारा एक विशेष मार्ग योजना तैयार की गई है, जिसके तहत विशेष ध्यान दिया जाएगा कि कोई सुरक्षा समस्या नहीं हो।

संक्षेप में

पूरे देश में महज कुछ दिनों बाद रामलला के अभिवादन का उत्सव होने वाला है। इस महत्वपूर्ण क्षण की तैयारियों, स्वादिष्ट पकवानों, सांस्कृतिक कार्यक्रमों और सुरक्षा इंतजाम की वजह से इसमें एक खास चमक और धूम होगी। यह एक ऐतिहासिक क्षण होगा, जब देश की जनता मिलकर अपने प्रिय भगवान श्री राम का स्वागत करेंगे | इस अवसर के लिए 25 राज्यों ने मिलकर अद्वितीय तैयारियां की हैं। इस लेख में हम जानेंगे कि यह तैयारियाँ कैसी हैं और क्या-क्या इंतजाम किए गए हैं।

Related posts

Exploring Different Learning Styles for Paces Courses

anjali agrawal

5 Signs Your Partner May be Giving Up on Your Relationship

Subhash Shastri

Leave a Comment